Saturday, 4 June 2011

Our age

Our age knows nothing but reaction, and leaps
         from one extreme to  another 


- Reinhold Niebuhr American philosopher 

2 comments:

  1. मेरे ब्‍लाग पर आपके आगमन का धन्‍यवाद ।
    आपको नाचीज का कहा कुछ अच्‍छा लगा, उसके लिए हार्दिक आभार

    आपके कलम की जादूगरी अच्‍छी लगी । बधाई

    ReplyDelete